CUETCUET Hindi

CUET Hindi Notes Shabd Shuddhi|शब्द शुद्धि|Hindi Grammar PDF Download

CUET Hindi Notes Shabd Shuddhi शब्द शुद्धि Notes

यदि आप CUET की तैयारी कर रहे हैं तो यहां पर आपको मिलेंगे हिंदी के CUET Hindi Notes Shabd Shuddhi 800 से अधिक शब्द शुद्धि जो हर परीक्षा में बार-बार आते हैं|

Table of Contents

शुद्ध अशुद्ध शब्द इन हिंदी PDF Download Hindi Grammar

शब्द शुद्धि

1. करण प्रत्यय से पूर्व प्राय: ई का प्रयोग होता है; जैसे–

मानवीकरण

एकीकरण

संक्षिप्तीकरण

वाष्पीकरण

केन्द्रीकरण

विशेष– यदि उपसर्ग के साथ ‘करण’ आये तो कोई परिवर्तन नहीं होगा; जैसे– अभिकरण, अधिकरण।

2. अनुस्वार (ं) /अनुनासिक (ँ) सम्बन्धी नियम–

अशुद्धशुद्ध
चांदचाँद
चांदनीचाँदनी
गांधीगाँधी
अंधेराअँधेरा

• विशेष–
(i) 
तत्सम शब्दों के साथ अनुस्वार का प्रयोग किया जाता है तथा तद्भव शब्दों के साथ अनुनासिक का प्रयोग किया जाता है; जैसे–

अनुस्वार
(
तत्सम शब्द)
अनुनासिक
(
तद्भव शब्द)
अंधकारअँधेरा
गांधीगाँधी
पंचपाँच
ग्रंथिगाँठ
चंद्रचाँद
चंद्रिकाचाँदनी

(ii) अनुस्वार का प्रयोग स्वर के पीछे किया जाता है तथा अनुनासिक का प्रयोग स्वर के साथ किया जाता है; जैसे– पंचांग– (पंच + अंग)–(पञ्चाङ्ग)

भयंकर, आतंक, संलग्न, अनुषंग, कंटक

पंचमाक्षर का अनुस्वार में परिवर्तन होने पर अनुस्वार का संबंध– कलंक, पंत, पतंजलि (पंचवर्ण रूप-संबंध)।

(iii) अनुस्वार का रूप परिवर्तन हो सकता है और अनुनासिक का रूप परिवर्तन नहीं होता है।

(iv) अनुस्वार का उच्चारण नाक से होता है और अनुनासिक का उच्चारण मुख अथवा नाक से होता हैं।

3.‘र’ संबंधी नियम–

(i) ु ू रु/रू
जैसे– रूमाल – रुमाल
       (शुद्ध)    (अशुद्ध)

√  मरु –  मरू

√  गुरु –  गुरू

√  गुरूपदेश – गुरुपदेश

(ii) (्)

जैसे– प्रेम= प्+र+म, ट्र = ट् +र

(iii) (रेफ)– जिस वर्ण पर रेफ लगता है, इसका उच्चारण वर्ण के पूर्व होता है; जैसे– गोवर्धन, अन्तर्निहित, ज्योतिर्मय, पुनर्विवाह, जुनर्जागरण, प्रादुर्भाव।

4. वचन संबंधी नियम–

• एकवचन शब्द के अंत में दीर्घ मात्रा के आने पर बहुवचन बनाने पर ह्रस्व मात्रा में बदल जाती है; जैसे–

इकाई/इकाइयाँ

हिन्दू/हिन्दुओं

मंत्री/मंत्रियों

भालू-भालुओं

भारतीय-भारतीयों

दवाई-दवाइयाँ

संन्यासी-संन्यासियों

प्राणी-प्राणियों

स्वामी-स्वामियों

विद्यार्थी-विद्यार्थियों

5. संज्ञा संबंधी नियम–

• संज्ञावाची शब्दों में कारक चिह्न अलग से लगता है।
• राम ने, रावण को, बाण से, सीता के लिए, लंका में
सेवा में (सम्मान जनक संकेत-पत्रों में)

6. सर्वनाम संबंधी नियम–

• सर्वनाम वाची शब्दों में कारक चिह्न साथ में लगता है।
हमने, हमारा, हमसे, उसने, मैंने, उसको, हमपर, उसपर, मुझपर।
• यदि सर्वनाम के साथ दो कारक चिह्न आए, तो पहले वाला साथ में और दूसरा वाला अलग से लगाया जाता है; जैसे– उसके लिए, हमारे लिए, तुम्हारे लिए।

7. ड़, ढ़ संबंधी नियम– उत्क्षिप्त/द्विगुण/ताड़नजात–

• ड – ट वर्ग का तीसरा वर्ण
• ङ – क वर्ग का पंचम वर्ण
(i) उत्क्षिप्त व्यंजनों से कोई शब्द शुरू ही नहीं होता।

(शुद्ध)    (अशुद्ध)

√ ढाणी     ढ़ाणी

√ ढोल       ढ़ोल

√ ढक्कन   ढ़क्कन

(ii) उत्क्षिप्त व्यंजनों का प्रयोग शब्द के मध्य/अंत में होता है।

सड़क

गढ़

लड़का

पढ़ाई

मारवाड़

लड़का

लकड़ी

(iii) अनुनासिक व अनुस्वार के साथ उत्क्षिप्त व्यंजनों का प्रयोग नहीं होता।
√  
मेंढक/मेंढ़क, दंड
ढुँढना, खांड
अपवाद– सूँड़ √ , मुँड़ेर √

(iv) उत्क्षिप्त व्यंजनों के साथ हल (् ) का प्रयोग नहीं होता।
धनाड्.य/धनाढ्य √ /धनाढ़्य
√ 
गुणाढ्य/गुणाढ़्य
√ 
पाड्य/पाड्.य

(v) अंग्रेजी शब्दों में उत्क्षिप्त व्यंजनों का प्रयोग नहीं होता।
(
शुद्ध)    (अशुद्ध)
√ 
रोड        रोड़
√ 
रेडियो    रेड़ियो
√ 
मैडम      मैड़म

8. ए/ये संबंधी नियम–

(i) चाहिए अर्थ वाली धातुओं में ‘ए’ आता है ये नहीं– कीजिए, लीजिए, दीजिए, पधारिए, बैठिए, पीजिए।
(ii) भूतकाल, एकवचन, पुल्लिंग धातु के अंत में ‘या’ आए तो बहुवचन बनाने पर ‘या’ के स्थान पर ‘ये’ स्त्रीलिंग बनाने पर ‘या’ के स्थान पर ‘यी’ हो जाता है।
गया– भूतकाल, एकवचन, पुल्लिंग
गये, गयी
(iii) भूतकाल, एकवचन, धातु के अंत में ‘आ’ आए तो बहुवचन बनाने पर ‘आ’ के स्थान पर ‘ए’ हो जाता है और स्त्रीलिंग बनाने पर ‘आ’ के स्थान पर ‘ई’ – हुआ, हुए, हुई।

Shabd Shuddhi ||शब्द शुद्धि || hindi vyakaran

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
मोखिकमौखिकशौककुलशोकाकुल
अजम्नाअजन्मासरवभक्षीसर्वभक्षी
गगनचुंभीगगनचुंबीप्रतिबर्षप्रतिवर्ष
व्यवसथाव्यवस्थाउत्कृष्ठउत्कृष्ट
जनमांधजन्मांधअल्पायूअल्पायु
प्राकृत्रिकप्राकृतिकआकर्शकआकर्षक
संसकारसंस्कारहिंदूत्वहिंदुत्व
नीराकारनिराकारनिरामिशनिरामिष
प्रियदर्शिप्रियदर्शीतटष्ठतटस्थ
अविलम्वअविलंबविकरेताविक्रेता
लालीमालालिमाखुबसुरतीखूबसूरती
नियार्तनिर्यातविद्‌यार्थिविद्‌यार्थी
अधिरअधीरमीतभाषीमितभाषी
ज्येष्टज्येष्ठदूर्लभदुर्लभ
स्थाबरस्थावरपरसादप्रसाद
सज्जन्तासज्जनताचिड़ीयाघरचिड़ियाघर
ऊर्पयुक्तउपर्युक्तघुड़दोडघुड़दौड़
रसोइघररसोईघरवनवाशवनवास
बाढ़पीडीतबाढ़पीड़ितप्रेमातूरप्रेमातुर
आयुश्मानआयुष्मानपिकदानपीकदान
हस्तलिखीतहस्तलिखितचिकीत्सालयचिकित्सालय
चतुर्भूजचतुर्भुजगायीकागायिका
ब्राहमणब्राह्‌मणसमपादिकासंपादिका
रसोईयारसोइयारोहिणिरोहिणी
एकादशिएकादशीराष्ट्रियताराष्ट्रीयता
रुपवानरूपवानपत्राकरपत्रकार
मुरलीदरमुरलीधरपन्खुडीपंखुड़ी
विधवंस विध्वंस श्रद्‌धालू श्रद्‌धालु
ननीहालननिहालअतिथीगृहअतिथिगृह
दू:स्वप्नदु:स्वप्नदीर्घसवासदीर्घश्वास
बीछौनाबिछौनाक्षूधाक्षुधा
स्वादिष्ठस्वादिष्टइत्यादीइत्यादि
विणापानीवीणापाणीमहातमामहात्मा
मखनचोरमाखनचोरभूलक्कड़भुलक्कड़
हंसवाहीनीहंसवाहिनीप्रधानमत्रीप्रधानमंत्री
अभिशेकअभिषेकविसतारविस्तार
अध्य्यनअध्ययनविशेषनविशेषण
तोपचितोपचीनाशमझीनासमझी
शाक्षरसाक्षरदीवसदिवस
सैनीकसैनिकअभयस्थअभ्यस्त
कवियत्रीकवयित्रीअद्‌वितयअद्वितीय
दृष्टीदृष्टिविसादविषाद
उज्जवलउज्ज्वलजिजिवीषाजिजीविषा
शताब्दिशताब्दीपारलौकीकपारलौकिक
आर्शिवादआशीर्वादपरिक्षापरीक्षा
पुज्यपूज्यऋतूऋतु
हस्तासरहस्ताक्षरसदोपदेशसदुपदेश
भाष्करभास्करआदरणियआदरणीय
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
सभापतीसभापतिओदार्यऔदार्य
आवस्यकताआवश्यकताचिकनाहठचिकनाहट
सन्मुखसम्मुखपरीवारपरिवार
शब्दांसशब्दांशओसधिऔषधि
नछत्रनक्षत्र  

Hindi Vyakaran Shabd Shuddhi PDF

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
बधायीबधाईनयीनई
लियेलिएरुपयेरुपए
बायेंबाएँदायेंदाएँ
हुवाहुआकेंचुवाकेंचुआ
सोवेसोएलावेगालाएगा
जावेंजाएँलिखावेंलिखाएँ
आवोआओलावोलाओ

( Best )शब्द शुद्धि के कारण और उदहारण

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
चिरस्थाईचिरस्थायीआतताईआततायी
अन्याईअन्यायीस्थाइत्वस्थायित्व
उत्तरदाईउत्तरदायीचंदरवरदाईचंदरवरदायी

शुद्ध वर्तनी शब्द PDF सहित — हिंदी के 800+ शुद्ध और अशुद्ध शब्द

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
संसद्संसदमहान्महान
भगवान्भगवानविद्‌वान्विद्‌वान
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
परिषदपरिषद्उच्छवासउच्छ‌्वास
षड़यंत्रषड्यंत्रउदगारउद्‌गार
विद्युतविद्युत्तड़िततड़ित्
पृथकपृथक्भाषािवदभाषाविद्

हिंदी-व्याकरण-वर्तनी-शुद्धिकरण.pdf

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
महतमहत्साक्षातसाक्षात्
वृहदवृहत्अर्थातअर्थात्
बृहतबृहत्अकस्मातअकस्मात्
पश्चातपश्चात्सततसतत्
किंचितकिंचित्यावतयावत्
भविष्यतभविष्यत्ज्यातिषज्योतिष्
वणिकवणिक्विपदविपद्
आयुषआयुष्आपदआपद्
सम्यकसम्यक्तिर्यकतिर्यक्
वरनवरन्छदमछद्‌म

शुद्ध अशुद्ध वर्तनी शब्द [PDF 2023]

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
आनुषांगिकआनुषंगिकपारितोषकपारितोषिक
आनुवांशिकआनुवंशिकउपचारिकऔपचारिक
प्रासांगिकप्रासंगिकसंवैधानिकसांविधानिक
उपन्यासिकऔपन्यासिकतत्कालिकतात्कालिक
अनुपातिकआनुपातिकप्रमाणिकप्रामाणिक
अध्यात्मिकआध्यात्मिकइतिहासिकऐतिहासिक
उपनिवेशिकऔपनिवेशिकअभ्यंतरिकआभ्यंतरिक

हिन्दी: शब्द शुद्धि

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
दशरथीदाशरथिभगीरथीभागीरथी
पाणिनीपाणिनिद्रौपदिद्रौपदी
वाल्मीकीवाल्मीकिविदेहीवैदेही

हिन्दी व्याकरण – शब्द शुद्धि । अशुद्ध शब्दों को पहचानने की ट्रिक

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
शुद्‌धिकरणशुद्‌धीकरणसौंद्रिकरणसौंद्रीकरण
केंद्रिकरणकेंद्रीकरणनीजिकरणनिजीकरण
नवीनिकरणनवीनीकरणवृद्‌धिकरणवृद्‌धीकरण
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
सरोजनीसरोजिनीकमलनीकमलिनी
भुजंगनीभुजंगिनीसंन्यासनीसंन्यासिनी
सौदामनीसौदामिनीकुमुदनीकुमुदिनी
विहंगनीविहंगिनीप्रियदर्शनीप्रियदर्शिनी
उज्जयनीउज्जयिनीगर्भणीगर्भिणी
अश्वनीअश्विनीअद्‌र्धांगनीअद्‌र्धांगिनी
गृहणीगृहिणीविरहणीविरहिणी
रुक्मणीरुक्मिणीसर्पणीसर्पिणी
व्यभिचारणीव्यभिचारिणीदुराचारणीदुराचारिणी
चतुरंगनीचतुरंगिनीपद्‌मनीपद्‌मिनी

शुद्ध -अशुद्ध शब्द वर्तनी लिस्ट PDF

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
सुलाेचिनीसुलोचनाकृशांगिनीकृशांगी
हतभागिनीहतभाग्याश्वेतांगिनीश्वेतांगी
त्रिनयिनीत्रिनयनाकोमलांगिनीकोमलांगी
अनाथिनीअनाथाकालिंदिनीकालिंदी
कामायिनीकामायनीपिशाचिनीपैशाची
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
आजिवकाआजीविकानिहारिकानीहारिका
कनीनकाकनीनिकापिपीलकापिपीलिका

हिन्दी वाक्य शुद्धि Hindi Sentence Correction Notes PDF

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
चमारनचमारिनकुजड़नकुजड़िन
भिखारनभिखारिनस्वामनस्वामिन
पड़ोसनपड़ोसिनग्वालनग्वालिन
कहारनकहारिनमोहयालनमोहयालिन
कुम्हारनकुम्हारिनधोबनधोबिन
तेलनतेलिनचाहरनचाहरिन
बाघनबाघिनजुलाहनजुलाहिन
भगतनभगतिननागननागिन
अहीरनअहीरिनसाँपनसाँपिन

शुद्ध अशुद्ध शब्द इन हिंदी PDF Download

अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
महमामहिमालाघिमालघिमा
गुरुमागरिमाहरितमाहरीतिमा
पितिमापीतिमाकालीमाकालिमा
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
जहरिलाजहरीलाचमकिलाचमकीला
कबिलाकबीलाशर्मिलाशर्मीला
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
एकत्रितएकत्रहतोत्साहितहतोत्साह
क्रोधितक्रुद्‌धग्रसितग्रस्त
गाेपितगुप्तव्यापितव्याप्त
त्रसितत्रस्तअभिशापितअभिशप्त
संबंधितसंबद्‌धप्रफुल्लितप्रफुल्ल
संयमितसंयमप्रतिष्ठितप्रतिष्ठ
आकर्षितआकृष्टलब्ध-प्रतिष्ठितलब्ध-प्रतिष्ठ
परिवर्तितपरिवर्तनअचंभितअचंभा
विस्मितविस्मयव्यवहारितव्यवहृत
व्याकुलितव्याकुलसर्वत्रितसर्वत्र
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
निर्गुणीनिर्गुणनिरपराधीनिरपराध
निर्धनीनिर्धननिरहंकारीनिरहंकार
निर्दयीनिर्दयनिरनुभवीनिरनुभ
निर्दोषीनिर्दाेषनिरभिमानीनिरभिमान
निर्लोभीनिर्लोभनिरुद्यमीनिरुद्यम
निरुपयाेगीनिरुपयोगनिरुत्साहीनिरुत्साह
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
समुंद्रसमुद्रनिंद्रितनिद्रित
किंवाड़किवाड़हिंजड़ाहिजड़ा
नींबूनीबूनोंक-झोंकनाेक-झाेंक
दुनियाँदुनियाढाँढ़सढाढ़स
डावाडोलडाँवाडोलगँठ-बंधनगठ-बंधन
दिनाँकदिनांकएकाँकीएकांकी
सांवलासाँवलालूंगीलूँगी
मुंहमुँहमहंगामहँगा
चांदचाँदआंखआँख
हंसीहँसीगूंगागूँगा
कांपनाकाँपनागूंजगूँज
पहुंचपहुँचअंधेराअँधेरा
ऊंचाऊँचाऊंटऊँट
गांधीगाँधीऊंचाईऊँचाई
छटांकछटाँकढूंढ़नाढूँढना
सांकलसाँकलपांचपाँच
दांतदाँतऊंघनाऊँघना
आंधीआँधीछांहछाँह
सांझसाँझझांसीझाँसी
रंगाईरँगाईकंटीलाकँटीला
बांहबाँहगंवारगँवार
जांघजाँघफँफूदफफूँद
धुँआधुआँदाँयादायाँ
कुँआकुआँबाँयाबायाँ
दाँएदाएँबाँएबाएँ
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
इकाईयाँइकाइयाँबहुएँबहुएँ
दवाईयाँदवाइयाँवधूएँवधुएँ
अशुद्‌ध
(
पुल्लिंग और स्त्रीलिंग)
शुद्‌ध
(
पुल्लिंग और स्त्रीलिंग)
कवियता और कवियत्रीकवयिता और कवयित्री
रचियता और रचियत्रीरचयिता और रचयित्री
जननिय और जनियत्रीजनयिता और जनयित्री
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
जजीविषूजिजीविषुतितीर्षूतितीर्षु
मुमुक्षूमुमुक्षुयुयुत्सूयुयुत्सु
पिपासूपिपासुचिकीर्षूचिकीर्षु
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
अभ्यारण्यअभयारण्यभान्जाभानजा
अतिश्योक्तिअतिशयोक्तिभान्जीभानजी
बद्रीनाथबदरीनाथचर्मोत्कर्षचरमोत्कर्ष
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
याज्ञवलक्ययाज्ञवल्क्यज्योत्सनाज्योत्स्ना
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
साम्राज्ञीसम्राज्ञीबारातबरात
आधीनअधीनहस्ताक्षेपहस्तक्षेप
अहर्निशाअहर्निशयदृच्छायायदृच्छया
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
बज़ारबाज़ारबदामबादाम
अगामीआगामीबकायदाबाकायदा
अजमाइशआजमाइशअविष्कारआविष्कार
अप्लावितआप्लावितविशिष्द्वैतविशिष्टाद्वैत
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
अहिल्याअहल्याछिपकिलीछिपकली
कारीगिरीकारीगरीसिद्‌धिनाथसिद्‌धनाथ
द्‌वारिकाद्‌वारकागिलहिरीगिलहरी
प्रदर्शिनीप्रदर्शनीरचनात्मिकरचनात्मक
तिरिस्कारतिरस्कारनिशिशेषनिशाशेष
घिनचक्करघनचक्करतिरिस्कृततिरस्कृत
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
दृढ़वतीदृढ़वतदरिद्रीदरिद्र
दृढ़निश्चयीदृढ़निश्चयहतोत्साहीहतोत्साह
कृतघ्नीकृतघ्नसत्यव्रतीसत्यव्रत
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
अप्सरीअप्सरासुलोचनीसुलोचना
दिगंबरीदिगबंरात्रिनयनीत्रिनयना
अनाथीअनाथाअश्वीअश्वा
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
फिटकरीफिटकिरीबाइबलबाइबिल
किरकरीकिरकिरीसाइकलसाइकिल
गिटकरीगिटकिरीबिसमलबिसमिल
टिटहरीटिटिहरीशांतमयशांतिमय
अड़यलअड़ियलगिरधरगिरिधर
ऊर्जस्वतऊर्जस्वितआध्यात्मकआध्यात्मिक
मैथलीशरणमैथिलीशरणउन्नतशीलउन्नतिशील
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
बोधीवृक्षबोधिवृक्षरूढ़ीवादीरूढ़िवादी
अनीलअनिलबहुब्रीहिबहुव्रीहि
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
आइनाआईनाहनिमूनहनीमून
इसाईईसाईआलपिनआलपीन
तकनीकितकनीकीसुनिलसुनील
संबंधिसंबंधीरहिमरहीम
पितांबरपीतांबरबिमारबीमार
दिवारदीवारकरिमकरीम
द्रविभूतद्रवीभूतमहिनामहीना
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
मुकूटमुकुटयुसूत्सायुयुत्सा
मुमूक्षामुमुक्षाबुभूक्षाबुभुक्षा
मुकूंदमुकुंदकुसूमकुसुम
कुमूदकुमुदकुटूंबकुटुंब
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
चक्षुरोगचक्षूरोगउहापोहऊहापोह
हु-बु-हुहुु-बु-हूअनुकुलअनुकूल
शहतुतशहतूतआहुतिआहूति
शुर्पणखाशूर्पणखामुमुर्षामुमूर्षा
शुश्रुषाशुश्रूषामुहुर्तमुहूर्त
जुलुसजुलूसनुपुरनूपुर
अनुभुतिअनुभूतिकुतुहलकुतूहल
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
अहसासएहसासअहसानएहसान
अलानएलानअहतियातएहतियात
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
झौंपड़ीझोंपड़ीपड़ौसीपड़ोसी
त्यौहारत्योहारन्यौछावरन्योछावर
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
प्रकोपितप्रकुपितप्रमोदितप्रमुदित
अशुद्‌ध  शुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
विश्वमित्रविश्वामित्रअष्टवक्रअष्टावक्र
निराशपूर्णनिराशापूर्णविजयदशमीविजयादशमी
मित्रवरुणमित्रावरुणसत्यनाशसत्यानाश
छुछुंदरछछूँदरछूआछूतछुआछूत
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
मनोचिकित्सामनश्चिकित्साहरिशचंद्रहरिश्चंद्र
मनोचिकित्सकमनश्चिकित्सकमनोचेतनामनश्चेतना
प्रात:चर्याप्रातश्चर्याज्याेतिर्छविज्याेतिश्छवि
दु:चक्रदुश्चक्रपुन:चपुनश्च
शोडशीषोडशीपुरुस्कारपुरस्कार
श्रेयकरश्रेयस्करअध:तलअधस्तल
कैलाशकैलासअंत:तलअंतस्तल
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
शीर्साषनशीर्षासनप्रसंशाप्रशंसा
सुश्रुषाशुश्रूषानृसंशनृशंस
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
अनिष्ठअनिष्टअंत्येष्ठिअंत्येष्टि
अभीष्ठअभीष्टअनावृष्ठिअनावृष्टि
अतिवृष्ठिअतिवृष्टिउत्कृष्ठउत्कृष्ट
संिश्लष्ठसंिश्लष्टविशिष्ठविशिष्ट
शिष्ठाचारशिष्टाचारपरिशिष्ठपरिशिष्ट
वरिष्टवरिष्ठगरिष्टगरिष्ठ
कनिष्टकनिष्ठवसिष्टवसिष्ठ
यथेष्ठयथेष्टपौष्ठिकपौष्टिक
ज्येष्टज्येष्ठषष्ठिषष्टि
संगोष्टीसंगोष्ठीषष्टीषष्ठी
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
मेगनादमेघनादशाबासशाबाश
बीबीबीवीविध्वंशविध्वंस
श्मसानश्मशानशारांशसारांश
दस्तकतदस्तख़तबतकबतख
सुनशानसुनसाननक्शलवादीनक्सलवादी
अभ्यस्थअभ्यस्तसिंघासनसिंहासन
नानकटाईनानख़ताईजुख़ामजुकाम
संगटनसंगठन  
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
चिड़नाचिढ़नासंघठनसंघटन
सीधा-साधासीधा-सादाशत्रुधनशत्रुघ्न
धनाड्यधनाढ्यकटहराकठहरा
हकीख़तहकीकतमहान कृपामहती कृपा
महान इच्छामहतीच्छाकसौठीकसौटी
अक्षुण्यअक्षुण्णप्रालब्धप्रारब्ध
मिष्ठान्नमिष्टान्न  
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
उपलक्षउपलक्ष्यधातव्यध्यातव्य
राजाभिषेकराज्याभिषेकईर्षाईर्ष्या
मूर्छामूर्च्छाराधेशामराधेश्याम
चिंगारीचिनगारीराजसूराजसूय
स्तनपानस्तन्यपानवगैरावगैरह
उज्वलउज्ज्वलजगधात्रीजगद्‌धात्री
जगबंधुजगद्‌बंधुसमुनयनसमुन्नयन
समुचयसमुच्चयउनयनउन्नयन
तदंतरतदनंतरपद्‌वार्तापद‌‌्‌यवार्ता
उछंृखलउच्छृंखलतरुछायातरुच्छाया
प्रतिछविप्रतिच्छविछत्रछायाछत्रच्छाया
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
अनूवादितअनूदितअंतर्ध्यानअंतर्धान
अवन्नतिअवनतिप्रज्जवलितप्रज्वलित
कृत्यकृत्यकृतकृत्यआवश्यकीयआवश्यक
श्रापशापनिश्चयतानिश्चय
हक्कदारहकदारअंतर्रात्माअंतरात्मा
बुद् धवारबुधवारभविष्यत् वाणीभविष्यवाणी
निश्च्छलनिश्छलगोवद् र्धनगोवर्धन
षष्ठम्षष्ठशहरीयशहरी
शिफारिशसिफारिशक्रियाक्रमक्रियाकर्म
सांयसायंसांयकालसायंकाल
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
महत्वमहत्त्वसत्वसत्त्व
तत्वतत्त्वव्युत्पतिव्युत्पत्ति
उतीर्णउत्तीर्णपश्चातापपश्चात्ताप
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
कर्त्ताकर्ताभर्त्ताभर्ता
कर्त्तव्यकर्तव्यवार्त्तालापवार्तालाप
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
ग्रहीतगृहीतअनुग्रहीतअनुगृहीत
श्रृंगशृंगसंग्रहीतसंगृहीत
श्रृंगारशृंगारश्रृंखलाशृंखला
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
द्रष्टिदृष्टिस्रष्टिसृष्टि
व्रष्टिवृष्टिसृष्टास्रष्टा
दृष्टव्यद्रष्टव्यदृष्टाद्रष्टा
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
रिणऋणरितुऋतु
रिषिऋषिरिक्थऋक्थ
रिद् धऋदि्‌धरितंभराऋतंभरा
रिद् धि-सिद् धिऋदि्‌ध-सिदि्‌धरिणीऋणी
उरिणउऋणरिषभऋषभ
नरसिंहनृसिंहपैत्रिकपैतृक
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
अजस्त्रअजस्रस्त्रावस्राव
सहस्त्राक्षसहस्राक्षस्त्रोतस्रोत
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
उर्त्तीणउत्तीर्णआर्दशआदर्श
उर्त्कषउत्कर्षतर्जुबातजुर्बा
शार्गीदशागिर्दसौर्हदसौहार्द
अर्थवेदअथर्वेदधर्नुविद् याधनुर्विद्‌या
मुर्हरममुहर्रमप्रर्वतकप्रवर्तक
पुर्नरचनापुनर्रचनानार्गाजुननागार्जुन
पुर्नभरणपुनर्भरणर्क्वाटरक्वार्टर
आर्शीवादआशीर्वाददुव्यर्सनदुर्व्यसन
दुव्यर्वहारदुर्व्यवहारदुव्यर्वस्थादुर्व्यवस्था
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
मुरारीमुरारियुधिष्ठरयुधिष्ठिर
त्रिपुरारीत्रिपुरारिहिरण्यशीपुहिरण्यकशिपु
धन्वंतरीधन्वंतरिवराहमीहिरवराहमिहिर
भतृहरीभर्तृहरिपरसारामपरशुराम
अशुद्‌धशुद्‌ध
सकुशलपूर्वकसकुशल अथवा कुशलपूर्वक
सानंदपूर्वकसानंद अथवा आनंदपूर्वक
सादरपूर्वकसादर अथवा आदरपूर्वक
सविनयपूर्वकसविनय अथवा विनयपूर्वक
सकुशलतासकुशल अथवा कुशलता
सशक्तिशालीसशक्ति अथवा शक्तिशाली
सादृश्यतासादृश्य अथवा सदृश
   अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
एकइक:एकहराइकहराएकलौताइकलौता
दोदु:दोधारीदुधारीदोगुनादुगुना
तीनती:तीनराहातिराहातीनरंगातिरंगा
चारचौ:चारराहाचौराहाचारगुनाचौगुना
हाथहथ:हाथकड़ीहथकड़ीहाथघड़ीहथघड़ी
घोड़ाघुड़:घोड़ादौड़घुड़दौड़घोड़सवारघुड़सवार
पानीपन:पानीवाड़ीपनवाड़ीपानीडुब्बीपनडुब्बी
घाटघट:घाटवारघटवारपानीघाटपनघट
बाटबट:बाटमारबटमारबाटखराबटखरा
छोटाछुट:छोटाभैयाछुटभैयाछोटापनछुटपन
सोनासुन:सोनाहरासुनहरासोनाहलासुनहला
भीखभिख:भीखमंगाभिखमंगाभीखमंगिनभिखमंगिन
पक्षीपक्षि:पक्षीराजपक्षिराजपक्षीमात्रपक्षिमात्र
मंत्रीमंत्रि:मंत्रीपरिषद्मंत्रिपरिषद्मंत्रीमंडलमंत्रिमंडल
प्राणीप्राणि:प्राणीमात्रप्राणिमात्रप्राणीविज्ञानप्राणिविज्ञान
योगीयोगि:योगीराजयोगिराजयोगीवरयोगिवर
राजाराज:राजापुत्रराजपुत्रराजापथराजपथ
महात्मामहात्म:महात्मागणमहात्मगणमहात्माजनमहात्मजन
दुरात्मादुरात्म:दुरात्मागणदुरात्मगणदुरात्माजनदुरात्मजन
नेतानेतृ:नेताजननेतृजननेतागणनेतृगण
मातामातृ:माताभक्तिमातृभक्तिमाताभूमिमातृभूमि
पितापितृ:पिताभक्तिपितृभक्तिपिताहीनपितृहीन
रात्रिरात्र:अहोरात्रिअहोरात्रदिवारात्रिदिवारात्र
   नवरात्रिनवरात्रमध्यरात्रिमध्यरात्र
अधिकारीअधिकारि:अधिकारीगणअधिकारिगणअधिकारीवर्गअधिकारिवर्ग
विद्यार्थीविद्यार्थि:विद्यार्थीवर्गविद्यार्थिवर्गविद्यार्थीगणविद्यार्थिगण
संन्यासीसंन्यासि:संन्यासीवृंदसंन्यासिवृंदसंन्यासीगणसंन्यासिगण
अभ्यर्थीअभ्यर्थि:अभ्यर्थीगणअभ्यर्थिगणअभ्यर्थीवर्गअभ्यर्थिवर्ग
अशुद्‌धशुद्‌धअशुद्‌धशुद्‌ध
मंततरमतांतरनृत्यंगनानृत्यांगना
तत्त्वाधानतत्त्वावधानस्वलंबनस्वावलंबन
जाग्रद् वस्थाजाग्रतावस्थासत्यर्थीसत्यार्थी
विचारधीनविचाराधीनअन्यन्यअन्यान्य
अंत्यक्षरीअंत्याक्षरीपूण्यर्थपुण्यार्थ
प्राप्तिच्छाप्राप्तीच्छामुनिंद्रमुनींद्र
रविंद्ररवींद्रकविंद्रकवींद्र
क्षितिशक्षितीशरजनिशरजनीश
हरिशहरीशगिरिशगिरीश
महतिच्छामहतीच्छामरुद्ययानमरूद्यान
मंजुषामंजूषाभानुदयभानूदय
बहुद् देश्यबहूद् देश्यअतिश्योक्तिअतिशयोक्ति
फेनोज्वलफेनोज्ज्वलअभ्यार्थीअभ्यर्थी
अध्यावसायअध्यवसायप्रत्यार्पणप्रत्यर्पण
गत्यार्थगत्यर्थगत्यावरोधगत्यवरोध
जात्याभिमानजात्यभिमानगत्यानुसारगत्यनुसार
व्याभिचारीव्यभिचारीअत्युष्माअत्यूष्मा
स्त्रिपयोगीस्त्र्युपयोगीउपरोक्तउपर्युक्त
अत्योक्तिअत्युक्तिपुनरोत्थानपुनरुत्थान
पुनरोक्तिपुनरुक्तिरीत्यानुसाररीत्यनुसार
पुनरूत्पादनपुनरुत्पादनपुनरावलोकनपुनरवलोकन
निराभिमाननिरभिमानदुरावस्थादुरवस्था
तदानुकूलतदनुकूलतदंतरतदनंतर
तदोपरांततदुपरांतसदोपदेशसदुपदेश
शरदोत्सवशरदुत्सवषड़यंत्रषड्यंत्र
सत्गुरुसद् गुरुजगबंधुजगद् बंधु
जगधात्रीजगद् धात्रीतड़ित् ज्योतितड़िज्ज्योति
जगत् जीवनजगज्जीवनयावत् जीवनयावज्जीवन
शरत्‌चंद्रशरच्चंद्रअंतर्चेतनाअंतश्चेतना
नभमंडलनभोमंडलवयवृद् धवयोवृद् ध
अतैवअतएवपयादिपयआदि
सम्यक्ज्ञानसम्यग्ज्ञानसम्यक्दर्शनसम्यग्दर्शन
मनोकष्टमन:कष्टमनोसाधनामन:साधना
मनोस्थितिमन:स्थितिवयोक्रमवय:क्रम
वयोप्राप्तवय:प्राप्तअधोपतनअध:पतन
शिरोपीड़ाशिर:पीड़ापयोपानपय:पान
इतिपूर्वइति:पूर्वमनोचिकित्सकमनश्चिकित्सक
मनअनुकूलमनोनुकूलनयनोभिरामनयनाभिराम
अशुद्धशुद्ध
साम्राज्ञीसम्राज्ञी
यौवनावस्थायुवावस्था
अवन्नतिअवनति
लाजवतीलाजवंती
भरिणीभरणी
सुलोचिनीसुलोचना
हतभागिनीहतभाग्या
कोमलांगिनीकोमलांगी
कृशांगिनीकृशांगी
सिंघासनसिंहासन
श्वेतांगिनीश्वेतांगी
कृतघ्नीकृतघ्न
अट्टारीअट्टालिका
अप्सरीअप्सरा
अहिल्याअहल्या
चातकिनीचातकी
दिगंबरीदिगंबरा
जमुनायमुना
नर्बदानर्मदा
भागीरथभगीरथ
भगीरथीभागीरथी
तृष्णतृष्णा
अहोरात्रिअहोरात्र
दिवारात्रिदिवारात्र
नवरात्रिनवरात्र
सहस्त्रसहस्र
स्त्रावस्राव
स्त्रौतस्रोत
अजस्त्रअजस्र
आधीनअधीन
सीधा-साधासीधा-सादा
रिद्धि-सिद्धिऋद्धि-सिद्धि
हिरण्यकश्यपहिरण्यकशिपु
अभ्यारण्यअभयारण्य
निशिकरनिशाकर
दृढ़वतीदृढ़वत
दृढ़निश्चयीदृढ़निश्चय
नौरत्ननवरत्न
उत्कर्षताउत्कर्ष
मार्दवतामार्दव
कृत्यकृत्यकृतकृत्य
चिंगारीचिनगारी
अलमअमल
अहसानएहसान
अय्याशऐय्याश
एकलौताइकलौता
एकताराइकतारा
चाक्षूरोगचक्षूरोग
ऊखलीओखली
समुन्द्रसमुद्र
उपलक्षउपलक्ष्य
शांतमयशांतिमय
आखरीआखिरी
अतिश्योक्तिअतिशयोक्ति
रामचरित्र मानसरामचरित मानस
राजाभिषेकराज्याभिषेक
धाराशाहीधराशाही
श्रापशाप
मोहरमुहर
भान्जाभानजा
सरवरसरोवर
प्रलयकरप्रलयंकर
अभ्यस्थअभ्यस्त
कुमदकुमुद
नींबूनीबू
शत्रुधनशत्रुघ्न
विध्नविघ्न
दरअसल मेंदरअसल
दुरावस्थादुरवस्था
अज्ञानताअज्ञान
सदृश्यसदृश/सादृश्य
आवश्यकीयआवश्यकता
बेफिजूलफजूल/फिजूल
दार्शनीयदर्शनीय
आत्मकआत्मिक
आध्यात्मकआध्यात्मिक
रामाराम
पार्वतीयपर्वतीय
बुद्धाबुद्ध
गुप्तागुप्त
योगायोग
अशोकाअशोक
महाराष्ट्रामहाराष्ट्र
केरलाकेरल
कर्नाटकाकर्नाटक
स्तनपानस्तन्यपान
दूधपानदुग्धपान
पदवार्तापद्मावार्ता
भागवत्गीताभगवद्गीता
निरपराधीनिरपराध
संसद्सदस्यसंसत्सदस्य
यावत्जीवनयावज्जीवन
जगत्जीवनजगज्जीवन
शरत्चंद्रशरच्चंद्र
पूज्यनीयपूजनीय
मान्यनीयमाननीय
गणमान्यगण्यमान/गण्यमान्य
मानवरमान्यवर
दुर्भिक्षादुर्भिक्ष
पैत्रकपैतृक
अभ्यार्थीअभ्यर्थी
पदोपरांततदुपरांत
शरदोत्सवशरदुत्सव
पुनरावलोकनपुनरवलोकन
तदंतरतदनंतर
अंतर्चेतनाअंतश्चेतना
निराभिमाननिरभिमान
पुनरूत्थानपुनरुत्थान
नभमंडलनभोमंडल
अनाधिकारअनधिकार
षट्मुख/षन्मुखषण्मुख
षट्मास/षन्मासषण्मास
सत्मार्गसन्मार्ग
सन्मुखसम्मुख
उल्लेखितउल्लिखित
जगत्बंधुजगद्बंधु
जगत्धात्रीजगद्धात्री
षड़यंत्रषड्यंत्र
षडदर्शनषड्दर्शन
मनोकामनामनःकामना
मनोस्थितिमनःस्थिति
अधोपतनअधःपतन
शिरोपीड़ाशिरःपीड़ा
इतिपूर्वइतिःपूर्व
अतैवअतएव
यशेच्छायशइच्छा
एकत्रितएकत्र
प्रज्जवलितप्रज्वलित
अज़माइशआज़माइश
अट्टारीअट्टालिका
अतिथीअतिथि
अत्याधिकअत्यधिक
अवमर्सअवमर्श
अनेकोंअनेक
अलोकिकअलौकिक
अनुगृहअनुग्रह
अनुग्रहितअनुगृहीत
औदार्यताऔदार्य, उदारता
अन्तकरणअन्तः करण
अन्तरगतअन्तर्गत
अन्ताक्षरीअन्त्याक्षरी
अध्यनअध्ययन
अधःगतिअधोगति
अम्रतअमृत
अभीनेताअभिनेता
अभिष्टअभीष्ट
अन्योन्यअन्यान्य
अज्ञानताअज्ञान
अभिष्टितअभीष्ट, चाहा हुआ
अपरान्हअपराह्न
आत्मातत्त्वआत्मतत्त्व
आधीनअधीन
आमात्यअमात्य
आरण्यअरण्य
आल्हादआह्लाद
आर्शिवादआशीर्वाद
आधिक्यताआधिक्य
आमूलतःमूलतः, आमूल
आद्रआर्द्र (नम)
इक्षाईक्षा (दृष्टि)
इप्सितईप्सित
ईतवारइतवार
ईर्षाईर्ष्या
ऋषीऋषि
संग्रहीतसंगृहीत
एक्यऐक्य
एकत्रितएकत्र
ऐशवर्यऐश्वर्य
ऐक्यताएकता या ऐक्य
ओचित्यऔचित्य
ओत्सुक्यऔत्सुक्य
ओद्योगिकऔद्योगिक
औगुणअवगुण
अहरनिसअहर्निश
कनिष्टकनिष्ठ
कर्त्तव्यकर्तव्य
अन्तरीक्षअन्तरिक्ष
कालन्दीकालिन्दी
कविन्द्रकवीन्द्र
कृतिज्ञकृतज्ञ
कवियत्रीकवयित्री
कालीदासकालिदास
कार्पण्यताकार्पण्य, कृपणता
कृशांगिनीकृशांगी
कुतुहलकौतुहल, कुतूहल
कुमुदनीकुमुदिनी
क्षुब्दक्षुब्ध
क्षत्रीयक्षत्रिय
गतीगति
गर्भीणीगर्भिणी
गायकागायिका
गीधगिद्ध
गोपितगुप्त
ग्यानज्ञान
गत्यावरोधगत्यवरोध
ध्रणाघृणा
चन्चलचंचल
चाहरदीवारीचहारदीवारी
चाहियेचाहिए
छिमाक्षमा
चांदचाँद
चारुताईचारुता (सुन्दरता)
चिन्हचिह्न
छदमछद्म
नोकरीनौकरी
जबरजस्तीज़बरदस्ती
जागृतजाग्रत
ज़ुखामज़ुकाम
ज्ञानूदयज्ञानोदय
जोत्सनाज्योत्स्ना
झूँठझूठ
झौंपड़ीझोंपड़ी
पुरष्कारपुरस्कार
तुफ़ानतूफ़ान
तोलतौल
त्रणतृण
त्रिष्णातृष्णा
त्यौहारत्योहार
दावागिनदावाग्नि
दरिद्रीदरिद्र
दिपावलीदीपावली
दीयासलाईदियासलाई
दुखदुःख
दुरावस्थादुरवस्था
प्रतिलिपीप्रतिलिपि
द्रढ़दृढ़
देहिकदैहिक
धराशाईधराशायी
धातूधातु
धूवाँधुआँ
ध्वनीध्वनि
नर्कनरक
निधीनिधि
नीमग्ननिमग्न
निराशपूर्णनिराशापूर्ण
न्यूनधिकन्यूनाधिक
निःसंताननिस्संतान
निरवनीरव
नेत्रत्वनेतृत्व
तिलांजलीतिलांजलि
नृसंशनृशंस
पकोड़ीपकौड़ी
परिक्षापरीक्षा
परिक्षणपरीक्षण
परुशपरुष (कठोर)
पड़ोसनपड़ोसिन
पत्निपत्नी
परलोकिकपारलौकिक
पिंजड़ापिंजरा
पिसाचपिशाच
पिशाचिनीपिशाची
पारितोशिकपारितोषिक
पूर्तीपूर्ति
पौरुषत्वपुरुषत्व, पौरुष
प्रशादप्रसाद
प्रगती, प्रगितिप्रगति
प्रफुल्लितप्रफुल्ल
प्रकृतीप्रकृति
निरोगनीरोग
प्रमाणिकप्रामाणिक
प्रेशणप्रेषण
प्रत्योपकारप्रत्युपकार
प्रादुभावप्रादुर्भाव
प्रलहादप्रह्लाद
प्रगटप्रकट
बदामबादाम
बिन्दूबिन्दु
बाल्मीकीवाल्मीकि
बाहुल्यताबाहुल्य, बहुलता
ब्रहस्पतिबृहस्पति
ब्राम्हणब्राह्मण
भाग्यमानभाग्यवान्
भाष्करभास्कर
भीरुताईभीरुता
भुपेन्द्रभूपेन्द्र
भूमीभूमि
भृष्टाचारभ्रष्टाचार
भैय्याभैया
मन्त्रिमन्त्री
मन्त्रीमण्डलमन्त्रिमण्डल
मणीमणि
मधूमधु
शर्बतशरबत
मरीचकामरीचिका
महत्वमहत्त्व
महाबलिमहाबली
मिष्ठान्नमिष्टान्न
मुहल्लामोहल्ला
मैथलीशरणमैथिलीशरण
मुहुर्तमुहूर्त
मैतृमैत्री
मोतमौत
म्रगमृग
यक्षयक्ष
याज्ञवल्कयाज्ञवल्क्य
यशगानयशोगान
यौवनावस्थायुवावस्था
रचयता, रचियतारचयिता
रविन्द्ररवीन्द्र
रवीरवि
सदृश्यसदृश
रितुऋतु
रुठरूठ
रूद्ररुद्र
रेड़ियोरेडिओ
लछमीलक्ष्मी
लिपीलिपि
लिखेगेंलिखेंगे
लीजिये, लिजियेलीजिए
भाणजाभानजा
व्रतान्तवृत्तान्त
विरहणीविरहिणी
विस्मरनविस्मरण
वीनावीणा
वेदेहीवैदेही
बिभीषणविभीषण
विश्वासनीयविश्वसनीय
वेश्यवैश्य
व्यवस्थापिकव्यवस्थापक
व्रद्धिवृद्धि
सारांस, शारांशसारांश
शुसोभितसुशोभित
शताब्दिशताब्दी
मुकन्दमुकुन्द
शान्तमयशान्तिमय
शिरमणिशिरोमणि
शिफ़ारिशसिफ़ारिश
श्रृंगारशृंगार
श्रद्धामान्श्रद्धावान्
षट्मुखषण्मुख
षस्टीषष्ठी
राजाभिषेकराज्याभिषेक
संसोधनसंशोधन
संस्कर्णसंस्करण
सन्धीसन्धि
समिक्षासमीक्षा
सहस्त्रसहस्र
संन्यासनीसंन्यासिनी
सदोपदेशसदुपदेश
सन्यासीसंन्यासी
सृष्टीसृष्टि
सशंकितशंकित
सम्रद्धिसमृद्धि
सप्ताहिकसाप्ताहिक
सिंदुरसिंदूर
सामिग्रीसामग्री
सुईसूई
सुरजसूरज
सुन्दरताईसुन्दरता
सुक्ष्मसूक्ष्म
सौभावस्वभाव
सैन्नसेना
सोभितशोभित
सेनिकसैनिक
सकुशलतापूर्वककुशलतापूर्वक
स्त्रोतस्रोत
हिरनहरिण/हिरण
हिताहीतहिताहित
हितैशीहितैषी
हेतूहेतु
हदयहृदय
होगेंहोंगे
हतोत्साहितहतोत्साह

Shabd Shuddhi ||शब्द शुद्धि || hindi vyakaran

Hindi Vyakaran Shabd Shuddhi PDF
( Best )शब्द शुद्धि के कारण और उदहारण
शुद्ध वर्तनी शब्द PDF सहित — हिंदी के 800+ शुद्ध और अशुद्ध शब्द
हिंदी-व्याकरण-वर्तनी-शुद्धिकरण.pdf


शुद्ध अशुद्ध वर्तनी शब्द [PDF 2023]

हिन्दी: शब्द शुद्धि
हिन्दी व्याकरण – शब्द शुद्धि । अशुद्ध शब्दों को पहचानने की ट्रिक
शुद्ध -अशुद्ध शब्द वर्तनी लिस्ट PDF
हिन्दी वाक्य शुद्धि Hindi Sentence Correction Notes PDF

शब्द शुद्धि PDF
शब्द शुद्धि Quiz
शुद्ध वर्तनी शब्द
शब्द शुद्धि के उदाहरण
शब्द शुद्धि हिंदी व्याकरण

शुद्ध अशुद्ध शब्द इन हिंदी PDF Download

शब्द शुद्धि के प्रश्न
हिन्दी शुद्ध वर्तनी PDF Download

Prachi

NCERT-NOTES Class 6 to 12.

Related Articles

Back to top button